राज्य

राहुल गांधी के ‘शक्ति’ वाले बयान पर PM मोदी का पलटवार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narender Modi) ने आज तेलंगाना में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि वो भारत मां के पुजारी हैं। उन्होंने रैली में आई हुईं महिलाओं से कहा कि आप शक्ति स्वरूपा और सभी माता और बेटियों के वो पुजारी हैं। उन्होंने ये भी कहा कि बीते रविवार को शिवाजी पार्क में इंडिया गठबंधन ने अपना घोषणापत्र में शक्ति को खत्म करने के लिए काम किया है।

इसके साथ पीएम मोदी(PM MODI) ने कहा कि वो इसे चुनौती के रूप में ले रहे हैं। शक्ति स्वरूपा माताओं और बहनों के लिए जान की बाजी लगा देंगे। उन्होंने कहा कि भारत की धरती पर कोई शक्ति की विनाश की बात कर सकता है क्या? क्या आपको शक्ति का विनाश मंजूर है और हम तो शक्ति की अराधना करते हैं।

 

पीएम नरेंद्र मोदी (PM MODI) ने ये भी बताया कि चंद्रयान की सफल लैंडिंग भी जिस जगह हुई, उसे भी शिव शक्ति का नाम देकर शक्ति स्वरूपा को समर्पित किया है। इंडिया गठबंधन शक्ति के विनाश की बात कर रहे हैं और पीएम मोदी ने रैली में आईं माताओं और बहनों को संबोधित करते हुए कहा कि आप उनके लिए शक्ति स्वरूपा हैं। उन्होंनेन्हों नेसबसे पूछा कि क्या शक्ति के विनाश करने वालों का विनाश होना चाहिए, इसके साथ ही पीएम मोदी(PM MODI) ये भी कह दिया कि देश की सभी माताओं और बहनों की रक्षा करना ही उनका लक्ष्य है।

इन्हें भी पढ़ें...  भाजपा ने किसानों और महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए दिन-रात काम किया: CM सैनी

 

 

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ‘शक्ति’ का दुरुपयोग करने का लगाया था आरोप
राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने रविवार को शिवाजी पार्क में अपने वक्तव में कहा, “हिंदू धर्म में शक्ति शब्द का इस्तेमाल होता है, कांग्रेस नेता (Rahul Gandhi) ने कहा कि हम सब इस शक्ति से लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि वो एक शक्ति से लड़ रहे हैं और सवाल करते हुए पूछा कि वो शक्ति क्या है आप सबको मालूम है। राजा की आत्मा ईवीएम में है और ये सही है, राजा की आत्मा ईवीएम में है और ईडी, आईटी में है, सीबीआई में है और भारत की सभी संस्थाओं में है”।

उन्होंने नाम नहीं लेते हुए कहा था कि एक कांग्रेस नेता (Rahul Gandhi) ने कि यूपीए अध्यक्षा सोनिया गांधी से रोते हुए कहा था कि एनडीए नीत सरकार से लड़ने की हिम्मत और शक्ति नहीं है। उस कांग्रेस नेता ने सोनिया जी से कहा था कि वो जेल नहीं जाना चाहते हैं और ऐसे हजारों लोग डराएं गए हैं। क्या शिवसेना, एनसी के लोग ऐसी ही चले गए, नहीं जिस शक्ति की वो बात कर रहे थे, उसके जरिए उन्होंने उनका गला पकड़कर भाजपा के साथ आने के लिए मजबूर किया है। और वे सभी डर कर भाजपा में गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button

You cannot copy content of this page

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

स्विटजरलैंड में बर्फबारी के मजे ले रही हैं देसी गर्ल