धर्म-आस्था

Mahashivratri 2024: 8 या 9 मार्च ,जानें महाशिवरात्रि पर्व की सही तिथि और पूजा मुहूर्त

Mahashivratri 2024: फाल्गुन मास की शिवरात्रि को महाशिवरात्रि के नाम से जाना जाता है। इस बार महाशिवरात्रि पर्व 8 मार्च 2024 शुक्रवार को श्रवण नक्षत्र में पड़ रहा है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को ही भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था. इस कारण महाशिवरात्रि को बहुत पवित्र पर्व माना जाता है।

इस बार महाशिवरात्रि पर्व 8 मार्च 2024 शुक्रवार को श्रवण नक्षत्र में पड़ रहा है। शुभ मुहूर्त सायं 9 बजकर 57 मिनट से प्रारंभ होकर 9 मार्च शनिवार 6 बजकर 17 मिनट तक रहेगा। प्रदोष काल में मुहुर्त पूजा शाम को 6 बजकर 41मिनट से 12 बजकर 52 मिनट तक।

ज्योतिष के अनुसार महावृत पूजा सदैव प्रदोष , निशीथ काल में करना चाहिए। आज के दिन भगवान शिव की पूजा चार प्रहर करने का विशेष फल होता है।

1.प्रथम प्रहर —सायं 6 बजकर 18 मिनट से रात्रि 9 बजकर 28 मिनट तक।
2.द्वितीय प्रहर– 9 बजकर 29 मिनट से मध्य रात्रि 12बजकर 34 मिनट तक।
3.तृतीय प्रहर –12 बजकर 40 मिनट से प्रात : से 3 बजकर 50 मिनट तक।
4.चतुर्थप्रहर –3 बजकर 51 मिनट से प्रात: 7 बजकर 10 मिनट तक (9मार्च)।
नीशिथ काल –मध्यम रात्रि १२.१५ से १.६ तक।

8/9 मार्च व शुक्रवार/शनिवार को पड़ने वाली इस महाशिवरात्रि का अत्यधिक ज्योतिषीय महत्त्व है।इस पर्व पर चन्द्र और शनि कुंभ राशि, मंगल मकर की उच्च राशि में होंगे। बुध मीन व सूर्य कुंभ राशि में होंगे।दैत्य गुरू शुक्र शनि की कुंभ राशि में होंगे। ग्रहों की पुनरावृत्ति होने के साथ ही सर्वार्थ सिद्धि योग भी बन रहा है।

इन्हें भी पढ़ें...  हनुमान जयंती 2024: जानिए तिथि, महत्व, कहानी, पूजा विधि और बहुत कुछ

महाशिवरात्रि पर्व पर आप सभी अपने-अपने मनोकामनाएं हेतु #रुद्राभिषेक अवश्य कराए परमकल्याणकारी भगवान शिव आप की समस्त मनोकामनाओं की पूर्ति अवश्य करेंगे।

महाशिवरात्रि व्रत का पारण 9 मार्च 2024 शनिवार को प्रात: काल कर लिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button

You cannot copy content of this page

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

स्विटजरलैंड में बर्फबारी के मजे ले रही हैं देसी गर्ल