चंडीगढ़राज्य

Punjab CM Bhagwant जालंधर उपचुनाव पर सीएम मान की अहम बैठक: कई मंत्री-MLA रहे मौजूद, मुख्यमंत्री बोले- पार्टी में कोई मतभेद नहीं, जनता अफवाहों से बचें – Jalandhar News

जालंधर में सीएम भगवंत सिंह मान ने अहम बैठक की। जिसमें जालंधर वेस्ट उपचुनाव को लेकर मंत्रियों और एमएलएज से बातचीत की गई।

पंजाब के जालंधर पश्चिम हलके में होने वाले उपचुनाव को लेकर आज राज्य के सीएम भगवंत सिंह मान ने स्थानीय होटल में बैठक की। बैठक में राज्य के कई मंत्री और विधायक शामिल हुए, जिनके साथ सीएम मान ने राज्य के प्रमुख मुद्दों पर भी चर्चा की और उपचुनाव को लेकर आग

.

सीएम भगवंत सिंह मान की यह बैठक बीएमसी चौक स्थित एक होटल में दोपहर करीब 2 बजे शुरू हुई। आपको बता दें कि पश्चिम हलके में उपचुनाव के लिए 10 जुलाई को मतदान होना है। इस बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि नेता किन मुद्दों को लेकर लोगों के बीच जाएंगे, ताकि लोग आम आदमी पार्टी को ही वोट दें।

उप चुनाव को लेकर आप ने शुरू किया जालंधर पश्चिम मिशन

पंजाब के मुख्यमंत्री सरदार भगवंत सिंह मान ने नेताओं से बातचीत में बताया कि जालंधर वेस्ट हलके का उप चुनाव उनके लिए कितना जरूरी है। सीएम मान ने उप चुनाव को लेकर एक मिशन भी शुरू किया। जिसे जालंधर पश्चिम मिशन नाम दिया गया।

साथ ही होटल के हाल में लगे बैन पर लिखा था कि आप की सरकार और आप का ही एमएलए होगा। सीएम मान ने सभी मंत्रियों से कहा कि सरकार के सभी कामों को जनता तक पहुंचाया जाए, जिससे उसका फायदा आम लोगों को हो सके।

जालंधर पहुंचे सीएम मान ने स्थानीय होटल में बैठक की।

जालंधर पहुंचे सीएम मान ने स्थानीय होटल में बैठक की।

इन्हें भी पढ़ें...  चंडीगढ़-मोहाली बॉर्डर पर जंगल में मिली पुलिस कॉन्स्टेबल लाश,चेहरा बुरी तरह से कुचला

CM बोले- चुनाव प्रचार की निगरानी मैं खुद करूंगा

साथ ही सीएम भगवंत सिंह मान ने क्लियर किया कि सारे प्रचार-प्रसार की निगरानी मैं स्वयं करूंगा। जिससे लोगों के बीच जाकर बताया जा सके कि राज्य के लिए आप सरकार कैसे कैसे बड़े काम कर रही है। आखिरी में सीएम मान ने नेताओं को जोर देते हुए कहा- पार्टी में किसी प्रकार का कोई मतभेद नहीं होना चाहिए और ना ही ऐसा कुछ है। सीएम मान ने लोगों से आग्रह किया है कि पार्टी में मतभेद जैसी अफवाहों से सख्त परहेज करें।

जालंधर में हुई सीएम की मीटिंग में सांसद मालविंदर सिंह कंग, कैबिनेट मंत्री कुलदीप सिंह धारीवाल, सांसद मीत हेयर, पंजाब मंडी बोर्ड के अध्यक्ष हरचंद सिंह बरसट, मंत्री बलजीत कौर सहित विभिन्न वरिष्ठ नेता मौजूद थे।

शीतल अंगुराल के इस्तीफे के बाद हो रहा उपचुनाव

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले 27 मार्च को शीतल अंगुराल भाजपा में शामिल हो गए थे। इसके बाद उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। लेकिन 29 मई को अंगुराल ने अपना इस्तीफा वापस लेने का मन बनाया था। 30 मई को अंगुराल ने अपना इस्तीफा वापस लेने के लिए स्पीकर को पत्र लिखा था।

3 जून को स्पीकर ने अंगुराल को इस्तीफे पर बातचीत को लेकर बुलाया था। मगर 30 मई को अंगुराल का इस्तीफा मंजूर कर दिया गया। इस पर अंगुराल ने पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर करने की बात कही थी।

दिलचस्प बात यह है कि भगत और अंगुराल 2022 के विधानसभा चुनाव में भी मैदान में थे। तब मोहिंदर भगत बीजेपी के उम्मीदवार थे और अंगुराल AAP की तरफ से कैंडिडेट थे। इस बार उलट हो गया है। भगत AAP के तो अंगुराल भाजपा के कैंडिडेट हैं।

इन्हें भी पढ़ें...  हरियाणा बीजेपी के नए अध्यक्ष की ताजपोशी, मोहनलाल बडौली ने हरियाणा CM की मौजूदगी में संभाला पदभार

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

स्विटजरलैंड में बर्फबारी के मजे ले रही हैं देसी गर्ल