TRENDINGखास खबरदेशबिजनेसराजनीतिराज्य

बजट में बड़े आर्थिक और सामाजिक फैसले, कई ऐतिहासिक कदम देखने को मिलेंगे -राष्ट्रपति मुर्मू

नई दिल्ली, 27 जून: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने गुरुवार को देश को भरोसा दिलाया कि आगामी संसद सत्र में केंद्रीय बजट के दौरान बड़े आर्थिक और सामाजिक फैसले और ऐतिहासिक कदमों की घोषणा की जाएगी। देश में छह दशक बाद पूर्ण बहुमत वाली स्थिर सरकार बनी है। लोगों ने तीसरी बार इस सरकार पर भरोसा जताया है। लोगों को पता है कि केवल यही सरकार उनकी आकांक्षाओं को पूरा कर सकती है।
18वीं लोकसभा कई मायनों में ऐतिहासिक है। इस लोकसभा का गठन अमृत काल के शुरुआती वर्षों में हुआ था। यह लोकसभा देश के संविधान को अपनाने के 56वें ​​वर्ष की भी साक्षी होगी।” उन्होंने कहा, “आगामी सत्रों में यह सरकार इस कार्यकाल का पहला बजट पेश करने जा रही है। यह बजट सरकार की दूरगामी नीतियों और भविष्य की दूरदर्शिता का एक प्रभावी दस्तावेज होगा। बड़े आर्थिक और सामाजिक फैसलों के साथ-साथ इस बजट में कई ऐतिहासिक कदम भी देखने को मिलेंगे।”
राष्ट्रपति ने दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए 18वीं लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों को बधाई दी। उन्होंने शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव संपन्न कराने के लिए भारत निर्वाचन आयोग के प्रति आभार भी व्यक्त किया। उन्होंने कहा, “मैं 18वीं लोकसभा के सभी नवनिर्वाचित सदस्यों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देती हूं। आप सभी देश के मतदाताओं का विश्वास जीतकर यहां आए हैं। देश और जनता की सेवा करने का सौभाग्य बहुत कम लोगों को मिलता है। मुझे पूरा विश्वास है कि आप राष्ट्र प्रथम की भावना के साथ अपने कर्तव्यों का पालन करेंगे और 140 करोड़ देशवासियों की आकांक्षाओं को पूरा करने का माध्यम बनेंगे।
राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा, “करोड़ों देशवासियों की ओर से मैं भारत के चुनाव आयोग का आभार व्यक्त करना चाहता हूं। यह दुनिया का सबसे बड़ा चुनाव था। जम्मू-कश्मीर में मतदान के दशकों पुराने रिकॉर्ड टूट गए हैं। पिछले 4 दशकों से कश्मीर में बंद और हड़ताल के बीच कम मतदान हुआ। भारत के दुश्मनों ने इसे अंतरराष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर की राय के रूप में प्रचारित किया। लेकिन इस बार कश्मीर घाटी ने ऐसी सभी ताकतों को करारा जवाब दिया।” राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार उत्तर पूर्व में स्थायी शांति के लिए काम कर रही है।
उन्होंने कहा कि पिछले 10 वर्षों में कई पुरानी समस्याओं का समाधान किया गया है। “सरकार उत्तर पूर्व में स्थायी शांति के लिए काम कर रही है। पिछले 10 वर्षों में कई पुरानी समस्याओं का समाधान किया गया है। उत्तर पूर्व में हर तरह की कनेक्टिविटी को बढ़ाया जा रहा है। शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यटन, रोजगार आदि हर क्षेत्र में विकास कार्य को आगे बढ़ाया जा रहा है। असम में 27 हजार करोड़ रुपये की लागत से सेमीकंडक्टर प्लांट बनाया जा रहा है। इसका मतलब है कि उत्तर पूर्व भी मेड इन इंडिया चिप्स का केंद्र बनने जा रहा है।
 संसद को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार भारत को तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने की दिशा में काम कर रही है। उन्होंने कहा, “सुधार, प्रदर्शन और परिवर्तन के संकल्प ने भारत को आज दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बना दिया है। 10 वर्षों में भारत 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था से पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। वर्ष 2021 से वर्ष 2024 तक भारत औसतन 8 प्रतिशत की दर से बढ़ा है।
महामारी और दुनिया के विभिन्न हिस्सों में संघर्षों के बावजूद भारत इस विकास दर को हासिल करने में सक्षम रहा है। यह पिछले 10 वर्षों में राष्ट्रीय हित में किए गए सुधारों और निर्णयों के कारण संभव हुआ है। आज भारत वैश्विक विकास में 15 प्रतिशत का योगदान देता है।  राष्ट्रपति ने कहा मेरी सरकार भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने की दिशा में काम कर रही है।
महिला आरक्षण विधेयक पर प्रकाश डालते हुए राष्ट्रपति ने कहा, “देश की नारी शक्ति लंबे समय से लोकसभा और विधानसभा में अधिक भागीदारी की मांग कर रही थी। आज उनके पास नारी शक्ति वंदन अधिनियम की शक्ति है। विकास के लिए समर्पित मेरी सरकार ने महिला सशक्तिकरण के एक नए युग की शुरुआत की है।”

इन्हें भी पढ़ें...  'डरो मत, भागो मत', राहुल पर पीएम मोदी ने साधा निशाना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

स्विटजरलैंड में बर्फबारी के मजे ले रही हैं देसी गर्ल